नारी तेरे रूप अनेक -5

पिछे पार्ट 4 में आप ने अब तक पढ़ा .. एक सिगरेट ल्फा कर मुजे दी बहुत दिन बाद सिगरेट मिली थी मजा भी आ रहा था. आधे घण्टे की ड्राइव करने पर कम्पनी में पहुचे वहा चुनिंदा लोग थे वे सब खड़े हो गए. इन लोगो की नाईट डियूटी थी. मेरा परिचय यहा के नए मैनेजर के रूप में दिया हम मेनेजर्वके ऑफिस की ओर चल पड़े.

अब आगे पढ़िए

नेहा के साथ कार को इस बार मे ड्राइव कर रहा था चलती कार में नेहा ने लन्ड बाहर निकाल कर मस्ती लेने लगी एक सिगरेट लगा कर मुजे दी बहुत दिन बाद सिगरेट मिली थी मजा भी आ रहा था आधे घण्टे की ड्राइव करने पर कम्पनी में पहुचे। वहा चुनिंदा लोग थे वे सब खड़े हो गए इन लोगो की नाईट डियूटी थी.

मेरा परिचय यहा के नए मैनेजर के रूप में दिया,हम मेनेजर्वके ऑफिस की ओर चल पड़े,ऑफिस रूम में मुजे सीट पर बैठा कर नेहा बोली तुम चिन्ता मत करो, मेरा पति तुम्हारे हाथों में विवश है,जैसे भी तुम चाहोगें वो तुम सब कर सकते हो तुम चाहो तो मेरे पति को तुम्हारा नोकर बना कर रख दु,

अब जल्दी से मेरी चुदाई करो तो कुछ ठंडक पहुचे तब में बोला सेठ जी वाले कमरे में चलना होगा,वही अंदर सेठजी ने ऑफिस रूम को ऐयाशी का रूम बना रखा है,चाबी लाई हो नेहा बोली चाबी तो नही लाइ,तब कैसे खोलेंगे एक मिनट रुको उसी चूतिये को फोन लगती हु,फोन डायल किया सामने से लड़खड़ाती आवाज आई हा बोल नेहा रानी,

आप के ऑफिस की चाबी कहा है,वो तो घर पर है,पर तुम्हे किया जरूत पड़ी.नेहा अपने पति को बोली तेरी माँ चुदाने की भड़वे तुजे मालूम था तो चाबी कियो नही दी.सेठ बोला अभी तुम कहा हो,नेहा बोली मैनेजर रूम के अंदर जाकर देखो मैनेजर रुम की टेबल खोलो उस मे एक चाबी मिल जाएगी इतना कह कर फोन काट दिया दराज।

एक एक दराज को चेक करने लगा एक दराज़ के पीछे की साइड में छुपा रखी थी,चाबी लेकर सेठ के रुम का दरवाजा खोला अंदर जाकर एक एक चीज को गौर से देखा मैन ऑफिस से अटेच एक और रूम उस से अटेच एक और रूम इस तरह तीन रूम सभी मे सब कुछ था.पहला रूम सेठ का ऑफिस और टेबल पर पड़े कम्प्यूटर से कम्पनी में सभी कर्मचारियों पर नजर रखने के लिए था

दूसरे रूम में किचन फ्रिज बाथरूम बने हुए थे,तीसरे रुम में छोटा सा स्विमिंग पुल के साथ एक बेड सात आठ हिडन कैमरे वैसे तो नही दिखते पर वेबकेम का रिकॉर्डर दिखा तब उस रिकॉर्डर को चालू किया तो टीवी स्क्रीन पर द्रश्य नजर आने लगे एक के बाद एक किल्प देखी सभी किल्प मे सेठ के साथ कम्पनी में काम करने वाली महिला कर्मचारी नजर आयी

एक बात विशेष नजर आई जैसे ही दरवाजा खुलता है,कैमरे चालु हो जाते है जब कमरा खाली होगा,तब कैमरे बन्द रहेंगे,इतना देखने के बाद इधर नेहा मेरे से चिपकी हुई थी,उसे चुदने की जल्दी थी पर मै जल्दी में नही था,नेहा को बोला,नेहा फ्रिज में से बोतल निकाल कर तुम दो चार पेग लगाओ उसे पिने को बिठा कर मै पहले वाले रूम में आ गया.मेरे स्टाफ ने पिछला अपडेट व अभी जो बाजार चल रहा है उसे चेक कर लूं,अगला अपडेट सेल्ल ऑफिस को तैयार कर के भेज दू अन्यथा वो हमे डिस्टर्ब कर सकते है,

सब से पहले छोटू(मेरा छोटा वाला लड़का) को फोन लगाया छोटू की जगह छुटकी(छोटू की बहु) ने फोन उठाया पुछा छोटू कहा है बोली कोई समान लेने गए है मुजे बडकी(मेरा बड़ा वाला लड़का की बहु) ने सब बता दिया,कमला चाची अभी यही है,तभी फोन पर दूसरी आवाज सुनाई पड़ी छुटकी की माँ(छोटे वाले लड़के की सासु) बोल रही थी,आप के लिए तो हम इन्त जार कर रहे है और आप हमें गोली दे गए.

मेने कहा थोड़ा सबरर रखे,आप को आप के घर आकर खुश करूँगा,अब छुटकी को फोन दे,छुटकी इस फोन की कॉल रिकॉर्डिंग हटा देना नही तो छोटू को मालूम पड़ जायेगा किया,छुटकी बोली आप मुजे इतना बेवकूप समझ रखा है किया, आप निसचित रहिये,

दूसरा फोन घरवाली को लगा कर कहा कल सुबह ट्रेन से तूम्हारी भान्जी तनीषा कपड़े लेने आ रही है,एक बार अपनी बहन से बात कर लेना और छोटू को लेने रेलवे स्टेशन भेज देना,मै कल शाम तक मे घर पहुँचूँगा आते ही तेरी भान्जी के साथ तेरी बहन के सुसराल रवाना हो जाऊंगा,बड़ी बहू को बोल देना मेरा बेग तैयार रखे।

तीसरा फोन यहा कम्पनी में मेरे चार लोगों का स्टाफ है उस मे सब से ऊपर एक यूसुफ भाई को तीनों के ऊपर सुपरवाइजर बना रखा है,मेने उसे ही फोन लगाया फोन उठाते ही ऑफिस नहीं आने का कारण पूछा,युसूफ ने बताया मै और बाकी स्टाफ के घर मे काम काज हो गया था,तब मैंने कहा कल सुबह एक दो आदमी आकर यहां काम सम्भालो और कल से तुम मैनेजर की जगह बैठना।

बाकी बाते मिलने पर बताऊंगा,आते समय सेठ व सेठानी के नाम से दो स्टाम्प हक तर्क नाम से 1000- 1000 रुपये लेते दो लेते आना,कुछ देर में मेरे स्टाफ द्वारा दिया अपडेट देख कर बाजार को देखा कुछ नोट्स बना कर सेल्स ऑफिस को कम्प्यूटर पर भेज दिए बाकी के नोट्स तड़के नो बजे भेज दूंगा लिख कर कम्प्यूटर बन्द कर.

वापिस युसुफ को फोन लगाया “यूसुफ जी सर एक काम और करना तुम्हारे पास दस हजार रुपये होंगे जी हां है बताइये किसी कम्प्यूटर पार्ट्स बेचने वाले कि दुकान से दो एक्सटर्नल हार्ड डिस्क एक टीबी की लेते आना मेरे दोनो काम जरूरी समझ कर पूरा करने के बाद आना तब तक ऑफिस को में सम्भाल लूंगा।

इतना कह कर नेहा कि और रवाना हो गया वहा नजारा कुछ अलग ही था नेहा बदहवाश हो चुकी थी,एकदम नंगी एक हाथ मे गिलास दूसरे हाथ मे सिगरेट नशा बहुत चढ़ चुका था,केसी हो.नेहा चूतिये इधर कु देख उस की जबान बुरी तरह लड़खड़ा रही थी उसे खड़ा करने की कोसिस की नीचे गिर पड़ी इसे एक बार स्नान करवानी पड़ेगी अन्यथा रात को अस्पताल ले जाना पड़ सकता है,

दोनो हाथ से उठाया स्विमिंग पूल में धीरे से खड़ा किया पानी ज्यादा नहीं था,सिर्फ दो ढाई फ़ीट मेने भी कपड़े खोले उसे पकड़ कर पानी मे डुबकी लगाने लगा,ऐसा करने से ऊपर से थोड़ी ठंडी हवा लगने से नशा कम होने लगेगा पन्द्रह बिस मिनट बाद कुछ नशा कम हुआ,तब मेरे से चिपक गई मेने दीवार का सहारा लेकर बैठा था.

उसे कहा जिस तरह में बैठा हु उसी तरह मेरे पैरों पर बैठ कर मेरी सीने का सहारा ले लो उस ने ऐसा ही किया ठंडे पानी मे लन्ड बहुत जल्दी कड़क हो जाता है,उस के दोनों हाथ मेरे हाथ मे मिला कर उस के पीठ पर लव बाइट करने लगा,पहले से उतेजित थी वो थोडी ऊंची हुई अपने गाँड के नीचे मेरा लन्ड था उसे हाथ मे लेकर अपनी बुर में फिट करने लगी,

वैसे भी उसने हद से ज्यादा धैर्य दिखाया,वो लन्ड को सेट हुआ नही बोली मादर चोद अन्दर डाल उसे घुमा कर सीधा किया उस के बूब्स देखते ही मजा आ गया ये मेरे जीवन की पहली नारी थी जिस के बूब्स दोनो हाथ मे नही आते इतने बड़े बूब्स वो भी बिल्कुल नीचे नही लटक रहे थे,शादी को पन्द्रह वर्ष बीत ने के बाद भी औलाद नही थी,

पहले उसे लन्ड के ऊपर लेकर निशान मिलाया फिर धीरे धीरे बैठने को कहा नशा ज्यादा होने के कारण वो वजन सम्भाल नही पाई धड़ाम से बैठ गयी,एकदम जोर से बोली ऊई मा मा मा,,,,फुर्ती से उसके मुंह को हाथ से दबाया तभी पानी लाल हो रहा था में समझ गया

बुर पूरी तरह फट चुकी है,उसकी आंखों में आशु आ गए थे दूसरे हाथ से आँशु को पूछा धीमे से कहा नेहु जो एक बार होना था वो हो गया जब तक दर्द कम नही हो तब तक इस दर्द को सहन करो दर्द पहले के मुकाबले अब कम अपने आप होगा पांच मिनट के लिए

मेरे सीने से चिपक जाओ वो सीने से आ लगी उस का मुंह पकड़ कर होठो का चुम्बन लेने लगा कभी कान के पास कभी आंखों पर कभी ठोड़ी पर चुम्भन की झड़ी लगा दी कुछ ही देर में वो खुद मेरे होठो का चुम्बन लेने के लिए मुंह आगे किया मेने जीभ निकाल कर उस के मुंह मे डाल दी अब वो बड़े आराम से चूष रही थी उधर में पीठ पिछे दोनो हाथ से सहला रहा था

करीब दस मिनट बाद उस की खुद की इच्छा हुई हल्के से उठने की वो जो कर रही थी में उसे करने दे रहा था थोड़ा ऊपर होकर वापिस बैठी दर्द हुआ मेने कहा धीरे धीरे करो दर्द कम होता जाएगा उस की चूत में जब तक लन्ड ऊपर नीचे होकर उस की बुर पानी नही छोड़ेगी तब तक उसे चेन मिलने वाला नही उस को प्रोत्साहित करता रहा ऊपर नीचे होने को करीब बीस मिनट बाद वो पूर्व अवस्था मे आ चुकी थी

अब उसे लन्ड जब जब दीवार से टकराता सुखद अनुभूति होने लगी में भला कियु रोकू फिर दोनों हाथ से गाँड को पकड़ा उसे ऊपर नीचे होने में मदद करने लगा अब वो पहले की बजाय स्पीड बड़ा दी अब उस के मुंह से अजीब आवाज आने लगी साले कुछ और तरीके से कर ताकि तेरा मूसल मुजे ठंडक दे उस पल में एक साइड में तकिया जैसा सिस्टम था

उस का सर उस पर रख कर उसे सीधा लिटा दिया अब में पूरे जोर से उस की चुदाई कर सकता हु मेने कहा नेहा देखो आगे बुर की हालत ठीक नही है अगर मेरे जोर से करने में कुछ ज्यादा फट गयी तो फिर मत कहना बिल्कुल नही कहूंगी

ये एक बार तो होगा वो साला यहा रंडियों का मेला लगाता था उसके पास मेरे के चोदने का टाइम ही नही मिलता था और में क्लब में जाकर पतले पतले लन्ड से आनन्द ही नही मिलता था अब तू आ गया उस को घर से बाहर नही निकाल दु

मेरा नाम नेहा नही अब तू इस कम्पनी और मेरा मालीक है बस तेरे जैसे कि जरूरत थी चल जल्दी से फाड् दे और जितनी फड़नी है में भी इस समय उतेजित हो रहा था लन्ड को चुत के मुंह पर रख कर जोर से ठोका ऊई मा इस भाव आवाज मादक थी व धीमी थी एक के बाद एक शॉट के साथ वो उछलने के साथ मे जोर जोर से उन्ह आ मर गयी रे

कुछ ही देर में एक दम दोनो हाथ मेरे कमर को कस कर जोर से छिलाई ओह आह आह रे ,,,उस की बुर ने पानी छोड़ दिया था पांच सात मिनट ऐसे ही रहे उस के बाद उसे उठा कर स्विमिंग पूल से बाहर लाया टॉवेल से उसका व मेरा शरीर को पूछा उसे उठा कर वापिस बार की टेबल पर लेकर आया

मेने मेरे लिए पेग बनाया वो उसने खिंच लिया मेने दूसरी गिलास में और बनाया कियो की अभी मुजे भी पीना था उस के बिना इस को चोदने का मजा कैसे आता वो गिलास आधा कर चुकी थी जब कि मुजे शरूआत भी करनी थी

उसे पकड़ कर लन्ड हाथ मे दे दिया ताकि वो भी उतेजित हो जाये इधर में आराम से पेग पी लुआधा पेग खत्म कर एक सिगरेट लगाई सिगरेट पीने से नशा जल्दी चढ़ता है


उधर नेहा लन्ड को छोड़ सिगरेट हाथ मे लेकर दूसरा गिलास भर कर गटागट पीने लगी(जब कभी जो चीज आप को मुश्किल से मिली हो उसे पूरा पाने के लिए ऐसी घटना मेने बहुत बार देखी) मेरे दूसरा पेग खाली किया उस के गिलास व मेरा गिलास और बोतल को साइड में कर दिया

उसे दोनो हाथ से उठा कर बेड पर ले जकर जोर से पटका चल कुतिया बन जा अब तू उसे कुतिया वाले आसन करवा कर लन्ड को पीछे से डाल कर एक के बद एक शॉट लगाता गया करीब बीस पच्चीस मिनट बाद में भी स्खलित की अवस्था मे पहुच चुका था

एक बार धीमी गति से पूरा लन्ड बाहर निकाल वापिस धीमी गति से डालने लगा इस तरह करने से चुत बहुत जल्दी पानी छोड़ देती है कुछ देर बाद उस की चूत वापस बेक आने लगी तब में समझ गया अब दस पन्द्रह जोर के झटके की जरूरत है

और जोर जोर से लगाने लगा सात या आठ में ही हम दोनों स्खलित हो गए में उसके ऊपर गिर गया उस के मुंह से घुट घुट कर आवाज आ रही थी सायद सखड़ अहसास हो रहा था कुछ देर बाद देखा उस की आंखों में नींद दिख रही थी,

उस का अब नींद लेना ही उचित समजा साइड में में भी सो गया सुबह सात बजे का अलार्म लगा कर,कल की रात मुजे पूरा जागना था आज दवाई लिए छोथा दिन था अब लन्ड सिकुड़ने लग गया था साथ ही अब सेक्स की टाइमिंग भी कम हो रही थी

मोबाइल उठा कर छोटू को फोन किया फोन छोटू ने ही उठाया कार उस के पास थी छोटू जी पापा एक काम मेरा इस वक्तकर सकता ह किया किया काम है पापा मेरा मेडिकल बेग मेरे कमरे में रखा हुआ है अगर इस समय कम्पनी में पहुचा दे मुजे कुछ दवाई लेनी थी पापा अगर आप की तबियत तो ठीक है

अरे बेटा थोड़ी बी पी की शिकायत हो गयी है ठीक है पापा बिस मिनट में पहुचता हु एक बात और सुन एक जोड़ी ड्रेस लेते आना,ठीक पापा अभी आता हूं,

वहा से उठा अटेच कमरे में गया अभी इस वक्त स्टाफ किया कर रहा था कम्प्यूटर चलु किया करीब चालिश कैमरे लगे हुए थे एक स्टाफ पर दो दो कैमरे कुल पन्द्रह बिस आदमी काम मे लगे हुए थे

रिकॉर्डर को पीछे आज सुबह ऑफिस खुलने की टाइम सेट किया कुल सवा सौ डेढ़ सौ का स्टाफ काम कर रहा था लडकिया कोन कोन आयी हुई थी उन्हें एक एक कर के देखने लगा करीब 40 से 50 लड़किया आई हुई थी

उन में से एक दो तो वही थी जो इस रूम में चुत मरवा चुकी थी वहां से वापिस मेन ऑफिस में आया टोटल कर्मचारियों के नाम पते का रजिस्टर लेकर वापिस रूम में आया ऊन दोनो लड़कियों के नाम ढूढने लगा वेब केम 91 से रिकॉर्ड हो रहा था कुछ देर की कोसिस से सही नाम व मोबाइल नम्बर मिल गए

अब सुपरवाइजर की लिस्ट देखने लगा उस का वेब केम 132 था उस के कमरे का आइकॉन बड़ा कर वीडियो को रिवर्च करने लगा कोन कोन कमरे में आते है तीन चार लडकिया आई थी एक बात बता दु तीनो शिफ्ट में सुपरवाइजर महिलाएं ही थी

वो भी चालिश साल के करीब की जो लडकिया आई उन के वापिस जाने के वीडियो देखने लगा दो लड़कियां तो अपने डेस्क पर चली गयी एक मैनेजर वर्मा जी के रूम में गयी वर्मा जी के रुम को देखने लगा वर्मा जी कुछ समजा रहा था

लड़की का चहरे का रंग उड़ा हुआ दिखाई दिया फिर वर्मा उठा उस के पास जाकर कन्धे पर हाथ रखा दूसरा हाथ पेट के किनारे रख कर बाते करने लगा कुछ देर बाद उस के बूब्स मचलने लगा धीरे धीरे एक एक कार के कपड़े उतारने लगा उसे सोफे पर बैठा कर उस की बुर को चाटने लगा

मेने इस वीडियो की अपने मोबाइल में कॉपी कर दी कम्प्यूटर को वापिस बन्द कर के रख दिया,इतना जानना मेरे लिए बहुत था इस का मतलब यहा लडकिया जितनी भी है उन को नोकरी पर रखने का उद्देश्य मालूम पड़ गया

अब तक कितनी हार्ड डिस्क रिकॉर्ड हुई है या यही एक को ही चला रहा है ऑफिस व उस से अटेच हर एक एक चीज को बारीकी से अध्ययन करना होगा तभी मोबाइल पर छोटु की घण्टी आ गयी कपड़े पहन कर कम्पनी के बाहर आकर

उस से बेग लिया सुबह रेल स्टेशन टाइम पर पहुचने की हिदायत दे दी उस को वहा से रवाना कर वापिस ऑफिस में आ रहा था एक महिला मिली नमस्कार बोली मेने नाम व पद पूछा वो सुपरवाइजर थी

उसे बता दिया इस कम्पनी का आज से मैनेजर कहो या सेठ अब में जो कहूंगा वही होगा और हा इस समय उपलब्ध सभी स्टाफ को बोल देना अब सेठजी की जगह में आया करूँगा

इतना कह कर वापिस ऑफिस में आ गया बेग में आगामी चार दिन को देखते हुई चार गोली पानी के साथ पी ली स्प्रे लगाने का मन हुआ कुछ देर बाद किसी लड़की को बुला कर उस के हाथ से ही लगाऊंगा ये सोच कर दवाइयों को वापिस बेग में डाल बेग को सुरक्षित रख कर

अब एक एक कमरे का बहुत बारीकी से अध्ययन करने लगा पहले सब से अंतिम वाला कमरा देखना चलु किया टब का पानी लाल हो चुका था उसे बदलने के लिए उस मे पाइप देखा उसकी चूड़ी घुमा कर सारा पानी बाहर किया आधा घण्टा लग गया कुछ भी पकड़ में नही आ रहा था कुछ देर बाद सोचने के वापिस फर्स्ट रूम में जाकर उसी सेठ के आफिस की रिकॉर्डिंग निकालने लगा

जब डिस्क लगी उस दिन से फ़ास्ट स्पीड में देखने लगा करीब सेठ रम में आता कुछ काम करता कभी किसी लड़की को बुलाता या मैनेजर उस लड़ाकी को लेकर आता मैनेजर के जाने के बाद अटेच रूम में लड़की को ले जाकर चुदाई करता करीब करीब

यही सिन चल रहे थे ऑफिस में अकेले बैठे बैठे कुछ सोचता हुआ अटेच वाला रूम में गया वहां से रिकॉर्डर में से हार्ड डिस्क निकाल कर तीसरे रुम में बेड के पास दीवार पर एक जगह बटन दबाया वहा लिफ्ट नजर आने लगी इस विदीयो को घुमा कर देखा कुल पन्द्र मिनट बाद आया रिकॉर्डर में वापिस हार्ड डिस्क लगाई

अपने ऑफिस में आकर ऑफिस बन्द कर रवाना हो गयाअब उस वीडियो को वही रोक कर तीसरे रम में गया पूरी लाइट लगा कर देखा नेहा गहरी नींद में थी

बटन को ढूढ़ा कुछ कोसिस में बटन मिला उसे दबाया लिफ्ट खुली ये लिफ्ट जैसी दिख रही थी पर सीढ़िया बनी हुई थी कुछ मिनट बाद अपने आप लिफ्ट बन्द हो गयी उसे बटन दबा कर देखा नीचे जाकर ऊपर आने के लिए वापिस बटन नही मिला तो फजीहत हो जाएगी कुछ ऐसा करु लिफ्ट में कुछ फंसा दु

ताकि लिफ्ट बन्द नही हो चारो कमरों में देख कर चेक किया दो तीन पतिया मिली उन पतियों को लिफ्ट में ऐसे सेट किया पतिया जब तक हटा नही लेता तब तक लिफ्ट बन्द नही होगी पूरा निचिंत होने के बाद ही सीढ़िया उतर कर देखा

मुजे आशा से ज्यादा ही मिला सभी हार्ड डिस्क सामने अलमारी की दो रेंक में मिली एक के ऊपर नम्बर व कॉमन दूसरी के ऊपर पर्सनल व नम्बर लिके हुए थे पर्सनल हार्ड डिस्क बिस पच्चीस थी व दूसरी हार्ड डिस्क करीब 100 से 125 थी अब छोटु के द्वारा लाये ठेले में पर्सनल हार्ड डिस्क डाली

कमरे में चारो तरफ नजर घुमाई यहा बहुत कुछ और मिलेगा इस कमरे को बाद में देखूंगा सीढ़ियों से ऊपर आकर बेग को सुरक्षित रखा इन्हें कल ठिकाने लगानी है वापिस रुम में आया

एकक बार कम्प्यूटर चेक करने लगा अभी रात के एक बजे थे कर्मचारियों की और चल पड़ा जाते समय स्प्रे लन्ड के ऊपर किया अच्छी तरह लन्ड के ऊपर स्प्रे की दवाई को मसला अब लन्ड वापिस पन्द्रह इन्च से अधिक लम्बा और चौड़ाई छ इन्च हो गयी

अब किसी को चोदना था तभी मोबाइल में घण्टी आई देखा तो अमरीकी डॉक्टर का था वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग थी उसे चलु किया वो कहने लगी किया तुम इंडियन लोग भूल कियो जाते हो मेने कहा गॉड की कसम आप को बिल्कुल नही भुला हु और

इस जन्म में तो हरगिज ही नही वो बोली तूमहारे बिना सब कुछ अच्चा नही लगता या तो तुम आ जाओ या में इंडिया आती हु उसे शार्ट में वहां से आने के बाद कि बाते बताई मुजे एक महीने का समय दो वो बोली मुजे चार पांच दिन दे देना में इंडिया आ रही हु मेने कहा आप कम से कम बिस दिन तक का

मेरा जरूरी काम है उस से पहले आई तो में समय नही दे पाऊंगा वो बोली ठीक है बिस दिन बाद आती हु अच्छा कोई काम हो तो बता दो मेने वही दोनो दवाई की इच्छा की में आउंगी तब लेती

कहानी जारी रहेगी अगले भाग मे … अपने विचार कमेंट करना ना भूले |